Header Ads Widget

ताज़ा

6/recent/ticker-posts

ममता बनर्जी की चोट पर, संबित पात्रा का कमेंट, बोले बेचारा पैर... हिल- हिल कर बता रहा है कि वो कितना दर्द में है


मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पैर की चोट
Image | ANI

भाजपा नेता और प्रवक्ता संबित पात्रा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पैर की चोट की आलोचना की है। पात्रा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो साझा करते हुए लिखा है, "बेचारा पैर ... हिल -हिल कर बता रहा है कि उसे कितना दर्द हो रहा है।"


 क्या है इस वीडियो में यूं समझिए

दरअसल, इस वीडियो में, व्हीलचेयर में बैठी ममता बनर्जी को अपने घायल पैर को बार-बार हिलाते हुए देखा जा सकता है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो नंदीग्राम में एक टीएमसी कार्यकर्ता के घर का है। ममता यहां कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रही थीं।


इस दौरान ममता बनर्जी व्हीलचेयर पर बैठी हैं। एक मेज सामने है। इसके तहत, ममता बंगला में बंगाली पार्टी के कार्यकर्ताओं से बात कर रही हैं और अपने पैर को हिला रही हैं। वीडियो में एक अवसर है जब वह घायल पैर पर अपना दूसरा पैर रखती है और तब भी वह किसी भी तरह की परेशानी में नहीं दिखती है।



ममता प्रचार और रोड शो व्हीलचेयर पर ही कर रही हैं

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पैर की चोट
Image | ANI


ममता बनर्जी ने 10 मार्च को नंदीग्राम में अपना नामांकन दाखिल किया। उसी दिन यानि बुधवार की शाम ममता को बिरुलिया, नंदीग्राम में लोगों से मिलते समय पैर में चोट लग गई। ममता ने भाजपा के लोगों पर यह आरोप लगाया था। इसके बाद, उन्हें तीन दिनों के लिए कोलकाता के एसकेएम अस्पताल में रहना पड़ा।


डॉक्टरों ने उनके पैर में प्लास्टर लगा दिया। हालांकि, ममता ने अस्पताल से एक वीडियो जारी किया और घोषणा की कि वह व्हीलचेयर में प्रचार करेंगी। 13 मार्च को अस्पताल से छुट्टी मिली ममता ने 14 मार्च से व्हीलचेयर पर बैठकर चुनाव प्रचार की शुरुआत की।


नंदीग्राम में राष्ट्रगान के लिए खड़ी हुईं थीं ममता

राष्ट्रगान के लिए खड़ी हुईं थीं ममता
West Bengal CM Mamata Banerjee tries to stand up while reciting National Anthem during an Election Campaigning, in Nandigram  (ANI


मंगलवार को नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन, ममता बनर्जी लगभग 20 दिनों के बाद एक व्हीलचेयर से निकलीं, जिसमें एक पैर बंधा हुआ था। दरअसल, नंदीग्राम के टेंगुआ में एक रैली के दौरान राष्ट्रगान की तैयारी चल रही थी। इस दौरान उनके सहयोगियों ने उन्हें खड़े होने का सुझाव दिया। पहले तो ममता को खड़े होने में कठिनाई महसूस हुई, लेकिन बाद में कुछ लोगों के समर्थन से वह खड़ी हुईं और राष्ट्रगान गाया।






Like and Follow us on :

Facebook

Instagram
Twitter
Pinterest
Linkedin
Bloglovin

Post a Comment

0 Comments