Header Ads Widget

ताज़ा

6/recent/ticker-posts

6 महीने पहले ही आइडेंटिफाइ हो गया था भारत में तबाही मचाने वाला Variant‚ जानिए इसकी ताकत और कमजोरी

भारत में तबाही मचाने वाला वैरिएंट
ANI

भारत ने अप्रैल 2021 के महीने में कोरोना संक्रमण के मामलों में दुनिया में सबसे तेज से वृद्धि दर्ज की है। दुनिया भर के विशेषज्ञ कोरोना के भारतीय Variant को दोष दे रहे हैं, जिसकी पहचान 6 महीने पहले हुई थी। आप भी समझिए इस वैरिएंट के बारे में क्या कहते हैं विशेषज्ञ-


यह Variant क्या है, इसे कब पहचाना गया

इस Variant का नाम B.1.617 है। वर्तमान में 17 देशों में पाया गया है। डब्ल्यूएचओ ने बताया कि पहली बार अक्टूबर 2020 में इसकी पहचान की गई थी। इसकी पुष्टि दिसंबर 2020 में हुई थी। यह बेहद इंन्फेक्टेड है और टीका से इम्यूनिटी को नजरअंदाज करने की क्षमता रखता है।


महाराष्ट्र-दिल्ली में संक्रमण क्यों बढ़ रहा है

इस Variant का नाम B.1.617 है। वर्तमान में 17 देशों में पाया ग
ANI

नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के निदेशक सुजीत कुमार के अनुसार दिल्ली में संक्रमण फैलने के पीछे बी.117 वैरिएंट है, जो बेहद संक्रामक है और ब्रिटेन में पहली बार पहचाना गया था। जबकि भारतीय संस्करण B.1.617 महाराष्ट्र में संक्रमण के प्रसार के लिए जिम्मेदार है।


Variant की सबसे बड़ी खासियत क्या है

वाशिंगटन विश्वविद्यालय में संक्रमण का मॉडल तैयार करने वाले क्रिस मरे बताते हैं कि भारत में पाए जाने वाले B1.617 वैरिएंट में नेचुरल इम्यूनिटी यानि प्राकृतिक रोग प्रतिरोधक क्षमता को नजरअंदाज करने की क्षमता है। स्वाभाविक रूप से लोगों में संक्रमण से लड़ने की क्षमता होती है, लेकिन इस शक्तिशाली संस्करण के कारण यह अप्रभावी लगता है।


क्या बाहरी वैरिएंट भी संक्रमण बढ़ा रहे हैं

हां, वेरिएंट B1.617 के अलावा, यह संभावना है कि ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका में भी वेरिएंट भारत में संक्रमण बढ़ा रहे हैं। समस्या यह है कि भारत में कोरोना वायरस पर बहुत कम जीन-सिक्वेंसिंग डेटा है, इसलिए अभी इस अनुमान की पुष्टि करना थोड़ा मुश्किल है।


कैसे वेरिएंट को ताकत मिल रही है

रोम के बैम्बिनो जेसु अस्पताल के इम्यूनोलॉजी विभाग के प्रमुख कार्लो फेडेरिको पेर्नो का कहना है कि भारत में पाया जाने वाला यह वैरिएंट संक्रमण को इतनी तेजी से नहीं फैला सकता है। इसे बस बेपरवाह भीड़ से फैलने में मदद मिल रही है। अगर इस भीड़ को सुपर स्प्रेडर कहा जाए तो गलत नहीं होगा।


क्या वैक्सीन की रोकथाम संभव है

व्हाइट हाउस के मुख्य चिकित्सा सलाहकार एंथनी फॉची कहते हैं, शुरुआती रुझान बताते हैं कि भारत में निर्मित कोवाक्सिन इस प्रकार के वैरिएंट से लड़ने में सक्षम है। वहीं, पब्लिक हेल्थ सोसाइटी ऑफ इंग्लैंड ने कहा कि वे यह पता लगा रहे हैं कि वैक्सीन इस वैरिएंट में कारगर है या नहीं। अभी प्रमाणित नहीं किया जा सकता है।



coronavirus in india | coronavirus cases in india | new variant of covid 19 in india | covid cases in india | covid variant in india | india variant |




Like and Follow us on :

Facebook

Instagram

Twitter
Pinterest
Linkedin
Bloglovin

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां