Header Ads Widget

ताजा खबरें

5/recent/ticker-posts

Space Tour Of Jeff Bezos : अमेजन के फाउंडर की पहली सफल अंतरिक्ष यात्रा पूरी, 11 मिनट में 105 किमी. का सुरक्षित सफर कर इतिहास रचा

Space Tour Of Jeff Bezos
अंतरिक्ष यात्रा से सुरक्षित लौटे जेफ बेजोस और उनके साथी यात्री. फोटोः ब्लू ओरिजिन 


 Space Tour Of Jeff Bezos : दुनिया की शीर्ष ई-कॉमर्स कंपनियों में से एक Amazon के फाउंडर Jeff Bezos स्पेस में 11 मिनट की यात्रा के बाद पृथ्वी पर लौट आए। भारतीय समयानुसार मंगलवार शाम 6:42 बजे रवाना हुई इस यात्रा में उनके साथ 3 और यात्री थे। 

उनमें से एक में उनके भाई मार्क बेजोस, 82 वर्षीय Wally Funk और 18 वर्षीय Oliver Damen शामिल थे। ओलिवर ने हाल ही में हाई स्कूल से पास आउट हुए हैं। 

आपको बता दें कि बेजोस के साथ अंतरिक्ष में जाने के लिए एक गुप्त शख्सियत ने 28 मिलियन डॉलर की बोली लगाई थी। लेकिन वे इस यात्रा पर नहीं जा सके। ऐसे में उनकी जगह ओलिवर इस ट्रिप में शामिल हुए।


( Space Tour Of Jeff Bezos) कैप्सूल के धरती पर लैंड होने के बाद Blue Origin की ओर से कहा गया कि टीम ब्लू पास्ट और सभी को इस अंतरिक्ष उड़ान के इतिहास में इस ऐतिहासिक क्षण तक पहुंचने के लिए बधाई।" इस यात्रा के बाद पहले अंतरिक्ष यात्री दल ने अपना नाम अंतरिक्ष के इतिहास की किताबों में लिख दिया है। ये जो आ मुमकिन हो पाया है इसका अनुभव अब कई लोग ले सकेंगे।  वाकई में यह एक ऐतिहासिक दिन है।


52 साल पहले 20 जुलाई को ही चांद पर पहुंचे थे नील आर्मस्ट्रांग
जेफ बेजोस ने कैप्सूल से बाहर आने के बाद वैली फंक को गले लगाया. फोटोः ब्लू ओरिजिन


अंतरिक्ष यात्रियों को उनके परिवारों ने बधाई दी

कैप्सूल से बाहर निकलने के बाद चारों अंतरिक्ष यात्रियों को उनके परिवारों ने बधाई दी। जेफ बेजोस और उनकी टीम के सामने शैंपेन की बोतल खोलकर सेलिब्रेशन किया गया. चारों अंतरिक्ष यात्री भी इस जगह काफी इमोशनल नजर आए। सबसे खुश 82 वर्षीय वैली फंक थी। वह दुनिया की सबसे उम्रदराज और सबसे उम्रदराज महिला अंतरिक्ष यात्री बन गई हैं।

Space Tour Of Jeff Bezos
रॉकेट का पहला हिस्सा सुरक्षित लैंड हुआ. फोटोः ब्लू ओरिजिन


52 साल पहले 20 जुलाई को ही चांद पर पहुंचे थे नील आर्मस्ट्रांग

रिपोर्ट्स के अनुसार बेजोस ने इस दिन को अंतरिक्ष में जाने के लिए इसलिए चुना क्योंकि अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग और बज एल्ड्रिन ठीक 52 साल पहले 1969 में अपोलो 11 स्पेसशिप के जरिए चंद्रमा पर पहुंचे थे।  Jeff Bezos की स्पेसफ्लाइट कंपनी ब्लू ओरिजिन ने रविवार को कहा था कि वह अपनी पहली ह्यूमन स्पेसफ्लाइट के लिए पूरी तरह से प्रिपेयर हैं।

 आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बेजोस और उनका दल जिस रॉकेट शिप से गया था वो पूरी तरह से ऑटोनॉमस है, मतलब ये कि इसे किसी तरह का कोई पायलट नहीं उड़ाता है। इसके कैप्सूल में 6 सीटें हैं, लेकिन यात्रा के दौरान इनमें से केवल 4 ही फिल हुईं। न्यू शेफर्ड नाम के इस रॉकेट की अब तक 15 उड़ानें सफल हो चुकी हैं। हालांकि, बेजोस की इस यात्रा से पहले यात्री इसमें शामिल नहीं हुए थे।


एक हफ्ते पहले रिचर्ड ब्रैनसन अंतरिक्ष गए थे


एक हफ्ते पहले रिचर्ड ब्रैनसन अंतरिक्ष गए थे

बेजोस से एक हफ्ते पहले 11 जुलाई को ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन की वर्जिन स्पेस शिप (वीएसएस) यूनिटी स्पेसप्लेन की उड़ान सफल रही थी। वे 85 किमी तक पहुंचे थे। 

दोनों यात्राओं की खास बात ये है कि इन दोनों यात्राओं में भारतीय मूल के सदस्य भी किसी न किसी रूप में जुड़े रहे।  जहां भारतीय मूल की सिरीशा बांदला ब्रैनसन के साथ यात्रा में गई थीं, 

वहीं बेजोस का न्यू शेपर्ड रॉकेट बनाने वाले इंजीनियरों की टीम में महाराष्ट्र के कल्याण की 30 वर्षीय संजल गावंडे भी शामिल थीं।

बेजोस ने न्यू शेफर्ड शिप में ऐसे भरी उड़ान


बेजोस ने न्यू शेफर्ड शिप में ऐसे भरी उड़ान

बेजोस की उड़ान 11 मिनट की सबऑर्बिटल फ्लाइट थी, यानी यह पृथ्वी की कक्षा में नहीं गई। बेजोस की ब्लू ओरिजिन कंपनी के न्यू शेपर्ड रॉकेट ने भारतीय समयानुसार शाम 6:42 बजे वेस्ट टेक्सास के रेगिस्तान से उड़ान भरी।


इस उड़ान के बाद फंक सबसे उम्रदराज और डेमन सबसे कम उम्र के अंतरिक्ष यात्री बन गए

इसके लिए सभी यात्री लॉन्च से 45 मिनट पहले ही ऑन-बोर्ड हो गए। मिशन के लिए चालक दल ने 48 घंटे तक प्रशिक्षण लिया। कर्मचारियों ने 8-8 घंटे की 2 दिन की ट्रेनिंग भी पूरी की। 

यह प्रशिक्षण उन सभी ग्राहकों के लिए भी अनिवार्य होगा, जिन्होंने टिकट खरीदा है। इस उड़ान के बाद फंक सबसे उम्रदराज और डेमन सबसे कम उम्र के अंतरिक्ष यात्री बन गए।


लगभग 3 मिनट की उड़ान के बाद, बेजोस का कैप्सूल ब्लू ओरिजिन के न्यू शेपर्ड रॉकेट से अलग हो गया
अंतरिक्ष में ब्लू ओरिजिन का न्यू शेफर्ड रॉकेट. फोटोः ब्लू ओरिजिन


लगभग 3 मिनट की उड़ान के बाद, बेजोस का कैप्सूल ब्लू ओरिजिन के न्यू शेपर्ड रॉकेट से अलग हो गया और अंतरिक्ष में चला गया। 4 मिनट तक उड़ान भरने के बाद उन्होंने 100 किमी ऊपर यानी कारमन लाइन को क्रॉस किया।

इस दौरान यात्रियों को वेटलैसनेस फील हुई। इससे कैप्सूल वापस जमीन पर आने लगा। 11 मिनट की उड़ान के बाद पैराशूट कैप्सूल रेगिस्तान में उतरा। इससे पहले रॉकेट भी पृथ्वी पर लौट चुका था।

उड़ान ने बना दिए कई रिकॉर्ड
बाएं से दाएं- मार्क बेजोस, जेफ बेजोस, ओलिवर डैमेन और वैली फंक


उड़ान ने बना दिए कई रिकॉर्ड

इस ट्रिप के साथ ही बेजोस की फ्लाइट ने कई रिकॉर्ड भी बनाए दिए हैं। जैसे कि यह ब्लू ओरिजिन की पहली पायलट रहित सबऑर्बिटल फ्लाइट रही, जिसमें या​त्रि सवार हुए थे। 

इस उड़ान में सबसे उम्रदराज और सबसे कम उम्र के अंतरिक्ष यात्री का रिकॉर्ड भी जुड़ गया। तीसरा रिकॉर्ड ये कि शेपर्ड रॉकेट और इसका कैप्सूल RSS फर्स्ट स्टेप को दोबारा इस्तेमाल किया जा सकता है।

रॉकेट और कैप्सूल इससे पहले उड़ चुके हैं और इस मिशन से पहले दो बार सफलतापूर्वक उतर चुके हैं। न्यू शेपर्ड के लिए अब तक 15 उड़ानें सफल रही हैं। लेकिन अब तक यात्री नहीं गए थे।


blue origin | jeff bezos space trip | sanjal gavande | blue origin launch | jeff bezos space | oliver daemen | bezos space trip | wally funk | mark bezos | blueorigin jeff bezos space trip time | first human flight | jeff bezos space flight | blue origin live 
 


Like and Follow us on :

Telegram  Facebook  Instagram  Twitter  Pinterest  Linkedin




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ