Header Ads Widget

ताजा खबरें

5/recent/ticker-posts

आतंकी साजिश नाकाम: दिल्ली, महाराष्ट्र और यूपी से 6 आतंकी गिरफ्तार, नवरात्रा और रामलीला में ब्लास्ट की थी प्लानिंग, जानिए कैसे जुड़ी कड़ी से कड़ी और आतंक का हुआ भंडा फोड़

दिल्ली, महाराष्ट्र और यूपी से 6 आतंकी गिरफ्तार
आतंकियों के बारे में जानकारी देते हुए दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर नीरज ठाकुर (बाएं)


आने वाले फेस्टिवल में देश में धमाका करने की पाकिस्तानी साजिश का पर्दाफाश हो गया है। दिल्ली पुलिस ने 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से भारी मात्रा में विस्फोटक और उच्च गुणवत्ता वाले हथियार बरामद किए हैं। पकड़े गए दो आतंकियों ने पाकिस्तान में बम बनाने की ट्रेनिंग ली थी। गिरफ्तार आतंकी दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस के कहने पर नवरात्र और रामलीला के दौरान सीरियल ब्लास्ट करना चाहते थे।

इधर, ओडिशा के बालासोर से पुलिस ने जासूसी के आरोप में DRDO के चार कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है। चांदीपुर सेंटर के ये चारों संविदा कर्मचारी पाकिस्तानी एजेंटों को गोपनीय सूचनाएं भेज रहे थे। पुलिस ने कहा कि पाकिस्तानी एजेंट उन्हें इसके लिए मोटी रकम दे रहे थे। गिरफ्तार कर्मचारियों पर ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट समेत अन्य धाराएं लगाई गई हैं।


मल्टी स्टेट ऑपरेशन के तहत पकड़े गए 6 आतंकी

दिल्ली समेत तीन राज्यों से पकड़े गए आतंकियों का ये नेटवर्क कई राज्यों में फैला था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि सूचना मिलने के बाद बहुराज्यीय अभियान चलाया गया। इस दौरान ये आतंकी दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान से पकड़े गए। 

पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेने वाले आतंकियों के नाम ओसामा और जीशान कमर हैं। बाकी चार आतंकियों के नाम मोहम्मद अबू बकर, जान मोहम्मद शेख, मोहम्मद आमिर जावेद और मूलचंद लाला हैं।


मस्कट से पाकिस्तान लाकर दिया गया प्रशिक्षण 

दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त नीरज ठाकुर ने कहा, 'हमारे पास 10 तकनीकी इनपुट थे। सबसे पहले एक आतंकी को महाराष्ट्र से पकड़ा गया। दिल्ली में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके बाद उत्तर प्रदेश से 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया। 

इनमें से दो आतंकी अप्रैल में मस्कट गए थे। उसे जहाज से मस्कट से पाकिस्तान ले जाया गया। वहां फार्म हाउस में रखकर विस्फोटक बनाने और एके-47 को चलाने की 15 दिन की ट्रेनिंग दी गई।


त्योहारों के दौरान भीड़भाड़ वाले इलाकों में ब्लास्ट करने की साजिश चल रही थी

ठाकुर ने कहा कि पकड़े गए आतंकियों को दो टीमों में बांटा गया था. उनमें से एक दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम द्वारा निर्देशित किया जा रहा था। 

आतंकियों की इस टीम का काम सीमा पार से हथियार लाकर अलग-अलग राज्यों में भेजना था। यही टीम आने वाले त्योहारी सीजन में आईआईडी लगाने वाली थी। नवरात्रि और रामलीला के दौरान भीड़भाड़ वाले इलाके उनका निशाना थे।

पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि हथियार लाने वाली टीम की मदद के लिए हवाला के जरिए पैसे लाने और आतंकियों को भेजने की जिम्मेदारी एक अन्य टीम को दी गई थी। बाकी आतंकियों के लिए सपोर्ट सिस्टम तैयार करने की जिम्मेदारी इसी टीम पर थी।


बांग्ला बोलने वाले 15 लोगों को ट्रेनिंग देने का शक

ठाकुर ने कहा, 'ये लोग पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेकर मस्कट लौटे थे। मस्कट से 15 बंगाली भाषी लोगों को भी पाकिस्तान ले जाया गया। ऐसा लगता है कि उन्हें भी प्रशिक्षित किया गया है। पुलिस गिरफ्तार आतंकियों को पूछताछ के लिए रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है।


6 terrorist arrested | Delhi police terror bust | terrorist arrested by Delhi police | terror attack plan | Delhi under terror threat | Delhi police terrorist | terrorist attack on India | 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ